महीनों नहीं नहाता था पति, तंग आकर पत्नी ने कर दिया ये बड़ा काण्ड, पति सदमे में

Uncategorized

पति और पत्नी एक ही गाड़ी के दो पहिये होते हैं. ऐसे में जरा सा बैलेंस बिगड़ा नहीं कि दुर्घटना घट जाती है. आज के फ़ास्ट फॉरवर्ड समय में पति और पत्नी की आपसी साझेदारी होना बेहद जरूरी है. क्यूंकि बिना साझेदारी के कोई भी रिश्ता ज्यादा समय तक नहीं टिक सकता. ऐसे में पति पत्नी के बीच झगड़े होना स्वभाविक है.परन्तु कईं बार कुछ झगड़े इतना भयानक रूप ले लेते हैं कि बात तलाक तक पहुँच कर खत्म होती है. कुछ ऐसी ही एक अजीबो गरीब घटना हाल ही में हमारे सामने आई है. जहाँ मध्यप्रदेश के विदेशा की रहने वाली एक पत्नी ने अपने पति को केवल इसलिए छोड़ने का मन बना लिया क्यूंकि वह बहुत कम नहाता था जबकि पत्नी को गंदगी जरा भी पसंद नही थी.

इन दिनों भारत में कोई ना कोई अजीबो गरीब घटना हमारे सामने आती ही रहती है. कुछ ऐसी ही घटना का ज़िक्र हम आज के इस आर्टिकल में करने जा रहे हैं. दरअसल, मध्यप्रदेश की रहने वाली एक नारी को स्वच्छता के प्रति बेहद लगाव था. ऐसे में वह अपने पति के कम नहाने की वजह से तंग आ चुकी थी और आखिरकार उसने पति से रिश्ता खत्म करने की ठान ली. इसी के चलते हाल ही में उसने हाल ही में अपने परिवार के साथ मिलकर परामर्श केंद्र में अर्जी जमा करवा दी है. इस अर्जी में उसने लिखा है कि, “मेरा पति महीने के 15-15 दिन नहाता नहीं है.

loading...

इसलिए अब मैं इसके साथ नहीं रहना चाहती”.
आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि यह पूरी घटना विदिशा के खरी फाटक क्षेत्र की है. जहां एक पत्नी ने अपने परिवार के साथ मिलकर बीते दिनों परामर्श केंद्र में पति के खिलाफ आवाज उठाई है. इसके लिए उसने परामर्श केंद्र में अर्जी पेश की है जिसमें उसने साफ-साफ उल्लेख किया है कि उसका पति स्वच्छता पर ध्यान नहीं देता और 15- 15 दिन होता नहीं है इसलिए ऐसे गंदे माहौल में रहना उसे जरा भी पसंद नहीं है.

अर्जी मिलने के बाद परामर्श केंद्र प्रभारी बंदना मिश्रा ने कहा कि पत्नी ने स्वच्छता के प्रति जागरुकता दिखाते हुए पति के खिलाफ शिकायत की थी. इसके बाद पत्नी ने काउंसलर के समक्ष रहकर बताया कि वह अपने पति के साथ एक ही शर्त पर रहेगी अगर उसका पति घर की साफ सफाई का पूरा ध्यान देगा और हर रोज नहाएगा.
इसके बाद पति ने काउंसलर के समक्ष पत्नी से वादा किया कि अब वह रोज नहाएगा और घर में साफ सफाई का ध्यान रखेगा और अपना काम-धंधा भी नियमित रुप से जारी रखेगा. काफी लंबी बहस के बाद पति और पत्नी के बीच स्वच्छता के इस अभियान को एक समझौता बनाने के बाद दोनों को राजी खुशी रवाना कर दिया गया. ब्देह्र्हाल देखा जाए तो पत्नी द्वारा उठाया गया ये कदम बिलकुल सही था. क्यूंकि घर की औरत ही सही मायने में परिवार को खुश रखने के उपाय खोज सकती है.

Leave a Reply